Twitter ने भारत से लगभग अपने सभी कर्मचारियों को निकाला

43 0

टेस्ला के सीईओ एलन मस्क के Twitter को खरीदने के बाद से ही कर्मचारियों की छटनी का सिलसिला जारी है। कंपनी वैश्विक स्तर पर कर्मचारियों को नौकरी से निकाल रही है। इस कड़ी में अब कंपनी ने भारत से बड़े पैमाने पर कर्मचारियों की छटनी की है।

दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति एलन मस्क ने जब से Twitter की बागडोर संभाली है, तब से कंपनी में कर्मचारियों को निकाला जा रहा है। भारत में Twitter कंपनी में लगभग 250 कर्मचारी काम कर रहे थे। इनमें से लगभग सभी कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया गया है। हालांकि, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कॉन्ट्रैक्ट पर रखे गए कुछ कर्मचारियों को कंपनी ने रिटेन किया है।

पुरुषों के स्पर्म काउंड में आई भारी गिरावट, वैज्ञानिकों ने भविष्य में इंसानों की प्रजाति को लेकर जताई चिंता।

एलन मस्क ने खरीदा ट्विटर

गौरतलब है कि Twitter को खरीदने के लिए एलन मस्क ने 44 बिलियन डॉलर यानि करीब 3368 करोड़ रुपये की रकम चुकाई है।

लिहाज़ा कंपनी की लागत में कटौती करने के मकसद से दुनियाभर में कर्मचारियों की संख्या को कम किया जा रहा है। माना जा रहा है कि कंपनी दुनियाभर से लगभग आधे कर्मचारियों को नौकरी से निकाल सकती है। पूरी दुनिया में Twitter के लगभग 7500 कर्मचारी है।

दरअसल एलन मस्क का मानना था कि खुलकर अपने विचार जाहिर करने के लिए Twitter का प्राइवेट होना ज़रूरी है। साथ ही वे सोशल मीडिया प्लैटफ़ॉर्म में यूजर्स के लिए कुछ नई सुविधाएं जोड़ना चाहते हैं, लिहाजा उन्होंने इस प्लैटफ़ॉर्म को खरीदने का फैसला किया। इसके बाद इस साल 13 अप्रैल को उन्होंने Twitter को खरीदने का एलान किया।

जब से यह खबर आई थी कि एलन मस्क Twitter को खरीद सकते हैं, तब से ही ये कयास भी लगाए जा रहे थे कि कंपनी से ज़्यादातर कर्मचारियों को निकाला जा सकता है।

बता दें कि Twitter को खरीदने के बाद एलन मस्क ने सीईओ पराग अग्रवाल और शीर्ष स्तर के कई अधिकारियों को कंपनी से बाहर का रास्ता दिखाकर कमान अपने हाथों में ले ली थी। इसके बाद एलन मस्क कंपनी के एकलौते डायरेक्टर बन गए।

Related Post

धरती पर कैसे इंसान एक जगह से पूरे ग्रह पर फैले? Svante Paabo ने अपनी इस स्‍टडी ने जीता नोबेल।

Posted by - October 5, 2022 0
प्राचीन डीएनए के अपने अध्ययन के माध्यम से, आनुवंशिकीविद् स्वंते पाबो ने निएंडरथल की पहचान की है जो हम में…

प्रधानमंत्री ने गुजरात में गांधीनगर और मुंबई के बीच नई वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाई।

Posted by - September 30, 2022 0
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने गांधीनगर-मुंबई वंदे भारत एक्सप्रेस को गांधीनगर स्टेशन पर हरी झंडी दिखाकर रवाना  किया और वहां से कालूपुर रेलवे स्टेशन तक उस ट्रेन से यात्रा की। जब वे गांधीनगर स्टेशन पहुंचे, तो प्रधानमंत्री के साथ गुजरात के मुख्यमंत्री श्री भूपेंद्र पटेल, गुजरात के राज्यपाल श्री आचार्य देवव्रत, केंद्रीय रेल मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव और केंद्रीय आवास एवं शहरी कार्य मंत्री श्री हरदीप सिंह पुरी उपस्थित थे। प्रधानमंत्री ने वंदे भारत एक्सप्रेस 2.0 के ट्रेन के डिब्बों का निरीक्षण किया और ऑनबोर्ड सुविधाओं का जायजा लिया।श्री मोदी ने वंदे भारत एक्सप्रेस 2.0 के लोकोमोटिव इंजन के कंट्रोल सेंटर का भी निरीक्षण किया। इसके बाद प्रधानमंत्री ने गांधीनगर और मुंबई के बीच वंदे भारत एक्सप्रेस के नए और उन्नत वर्जन को हरी झंडी दिखाई और वहां से कालूपुर रेलवे स्टेशन तक ट्रेन से यात्रा की। प्रधानमंत्री ने रेल कर्मचारियों के परिवार के सदस्यों, महिला उद्यमियों और अनुसंधानकर्ताओं और युवाओं सहित अपने सह-यात्रियों के साथ भी बातचीत की। उन्होंने वंदे भारत ट्रेनों को सफल बनाने के लिए कड़ी मेहनत करने वाले श्रमिकों, इंजीनियरों और अन्य कर्मचारियों के साथ भी बातचीत की। गांधीनगर और मुंबई के बीच वंदे भारत एक्सप्रेस 2.0 गेम चेंजर साबित होगी और भारत के दो व्यापारिक केंद्रों के बीच कनेक्टिविटी को बढ़ावा देगी। इससे गुजरात के कारोबारियों को अहमदाबाद से गांधीनगर आने जाने के दौरान हवाई यात्रा जैसी सुविधाएं प्राप्त होगी और उन्हेंहवाई जहाज के महंगे किराए का वह भी नहीं उठाना होगा। गांधीनगर से मुंबई तक वंदे भारत एक्सप्रेस 2.0 से एक तरफ की यात्रा में लगभग 6-7 घंटे का समय लगने का अनुमान है। वंदे भारत एक्सप्रेस 2.0 का…

Leave a comment

Your email address will not be published.