स्ट्रॉबेरी, वनीला, डार्क चॉकलेट और मिंट फेवरेट आइसक्रीम से जाने पर्सनैलिटी के राज।

30 0

आइसक्रीम खाना किसे नही पसंद चाहे सर्दियां हो या गर्मियां मीठे में खाने के लिए ज्यादातर लोगों की पहली पसंद आइसक्रीम ही होती है। लेकिन क्या आप जानते है कि आइसक्रीम से आप किसी पर्सनेलिटी के बारे में जान सकते है कि उस इंसान का व्यवहार और चरित्र कैसा है। मार्केट में आने वाले आइसक्रीम के अलग-अलग फ्लेवर्स जैसे वनीला, स्ट्रॉबेरी और चॉकलेट के अलावा दूसरे कई फ्लेवर्स लोगों की पर्सनेलिटी को बताते है।

सबसे पहले शुरुआत करते है वनीला आइसक्रीम से आखिर वनीला फ्लेवर की आइसक्रीम खाने वाले लोग की पर्सनेलिटी कैसी होती है।

वनीला

स्मेल एंड टेस्ट ट्रीटमेंट एंड रिसर्च फाउंडेशन के संस्थापक न्यूरोलॉजिस्ट डॉ एलन हिर्श के मुताबिक… वनीला फ्लेवर पंसद करने वाले लोग आवेगी होते है ऐसे लोगों को रिस्क लेना पंसद होता है साथ ही ऐसे लोगों को लॉजिक से ज्यादा अपने इनट्यूशन पर भरोसा होता है।

स्ट्रॉबेरी

बास्किन रॉबिन्स के लिए हिर्श द्वारा किए गए एक अध्ययन के मुताबिक, जिन लोगों को स्ट्रॉबेरी आइसक्रीम पसंद होती है वो लोग सहनशील, समर्पित और अंतमुर्खी यानि Introvert होते है इसके अलावा ये तार्किक और विचारशील होते है।

चॉकलेट

डॉ एलन हिर्श की मानें तो चॉकलेट आइसक्रीम पसंद करने वाले लोग भोले, चुलबुले और थोड़े ड्रामेबाज़ होते है। अपने इन्ही गुणों की वजह से ये दूसरे लोगों को काफी पंसद होते है।

मिंट चॉकलेट चिप

हिर्श के अध्ययन के मुताबिक… मिन्ट चॉकलेट पसंद करने वाले लोग… महत्वाकांक्षी, आत्मविस्श्वास से भरे होते है साथ ही तर्कशील भी होते है। ऐसे लोग अपने विचाल दूसरों के सामने रखना पसंद रखते है।

कॉफी

कॉफी फ्लेवर आइसक्रीम पसंद करने वाले लोग एंर्जी से भरपूर होते है साथ ही चीजों को लेकर अक्सर उत्साहित भी रहते है।

चॉकलेट चिप

अगर आपको भी चॉकलेट चिप आइसक्रीम पसंद है तो आप की पर्सनेलिटी उदार, चीजों को अच्छे से मैनेज करने वाली साथ ही करियर में सफलता को लेकर बहुत मेहनत करने वाली है।

Related Post

बुज़ुर्गों में ही नहीं, बल्कि युवाओं और बच्चों में भी विकसित हो सकता गठिया, जाने लक्षण

Posted by - October 17, 2022 0
गठिया या आर्थराइटिस एक गंभीर बीमारी है। आम तौर पर यह बीमारी बुज़ुर्गों में देखी जाती है। लेकिन आज-कल बच्चों…

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में मिठास घोल रहा है भारतीय गुड़

Posted by - September 16, 2022 0
देश में गुड़ को 3000 सालों से आयुर्वेदिक चिकित्सा में मीठे के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। गुड़ के खनिज तत्व में कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, पोटेशियम, लौह, जिंक और…

Leave a comment

Your email address will not be published.