भारत में कौनसी कॉफी मिलती है रोबस्टा या अरेबिका

18 0

देश से होने वाले कॉफी के निर्यात में इस साल खासी बढ़त देखने को मिली है… अतंर्राष्ट्रीय बाजार में कॉफी का निर्यात बीते साल के मुकाबले 10 प्रतिशत बढ़ा है। वहीं घरेलू स्तर पर साल 2021-22 के दौरान रोबस्टा कॉफी की पैदावार में 9 प्रतिशत का इजाफा देखने को मिल सकता है उम्मीद है कि इसका असल कॉफी के बाजार भाव पर पड़ सकता है।

भारत में रोबस्ट और अरेबिका की खेती

भारत में कॉफी की दो किस्में रोबस्टा और अरेबिका की खेती की जाती है। देश में रोबस्टा कॉफी के कुल उत्पादन का 70 प्रतिशत हिस्सा है….देश  के छोटे किसान रोबस्टा कॉफी को उगाना ज्यादा पसंद करते है क्योंकि इसमें अधिक उपज और रखरखाव की लागत कम आती है। 

किन राज्यों में होती है कॉफी की खेती

भारत के कर्नाटक, केरल और तमिलनाडु, ये तीन ही ऐसे राज्य है जहां कॉफी का उत्पादन किया जाता है….यहां कॉफी का 83 प्रतिशत उत्पादन होता है…. इसमें 70 प्रतिशत हिस्सेदारी सिर्फ कर्नाटक की है… कर्नाटक के कोडागु जिले को कॉफी की खेती का हब कहां जाता है। 

बात कॉफी की पैदावार की करें तो...यूनाइटेड स्टेट्स डिपार्टमेंट ऑफ एग्रीकल्चर यानी यूएसडीए के मुताबिक, फसल वर्ष 2021-22 में भारत की कॉफी की पैदावार और खपत बढ़ सकती है। हाल ही में जारी हुई रिपोर्ट के अनुसार, साल 2021-22 के लिए कॉफी की उपज 60 किलो के 5.53 मिलियन बैग अनुमानित है जबकि पिछले साल उपज का यह आंकड़ा 5.23 मिलियन बैग रहा था। रिपोर्ट के मुताबिक 2021-22 में 76,800 टन अरेबिका और 2 लाख 25 हजार टन रोबस्टा की पैदावार अनुमानित है.

यूएसडीए की उपज के अनुमान के मुताबिक अरेबिका की पैदावार में 2% की गिरावट आ सकती है, जबकि रोबस्टा की पैदावार में 9% का इजाफा हो सकता है। हालांकि पिछले साल के मुकाबले कुल पैदावार 6% बढ़कर 789 किलोग्राम प्रति हेक्टेयर होने की उम्मीद है। 

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में भारतीय कॉफी का निर्यात

कॉफी का एक अपना अंतर्राष्ट्रीय  बाजार है भारत उत्पादित हुई कॉफी का लगभग 80 प्रतिशत वैश्विक बाजार में निर्यात कर रहा है। वहीं इस साल देश से होने वाले कॉफी के निर्यात में अच्छी बढ़त देखने को मिली है… कृषि मंत्रालय की ओर से हाल ही में जारी ताजा आंकड़ो के मुताबिक साल 2019-20 के दौरान देश से कॉफी का निर्यात 5 हजार 236 करोड़ रुपये का हुआ था.. जो साल 2020-21 के दौरान 103 करोड़ रुपये बढ़कर 5 हजार 339 करोड़ रुपये के पार पहुंच गया है।  

बता दें कि भारत अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कॉफी के बाजार में ब्राजील, कोलंबिया, वियतनाम, इंडोनेशिया, होंडुरस और इथियोपिया जैसे राज्यों से प्रतिस्पर्धा करता है

Related Post

भारत ने अमेरिका भेजी, वनस्पति आधारित मांस उत्पाद की पहली खेप

Posted by - September 22, 2022 0
अभिनव कृषि प्रसंस्कृत खाद्य उत्पादों के निर्यात को बढ़ावा देने के लिये केंद्र ने सर्वोच्च निर्यात संवर्धन संस्था– कृषि और…

Leave a comment

Your email address will not be published.