रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचा, सब्जियों और फलों का उत्पादन

46 0

घरेलू स्तर पर इस साल कुल सब्जियों और फलों की पैदावार मेें बढ़त का अनुमान है… कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय की ओर से साल 2021-22 के लिए 1 नवंबर को विभिन्न बागवानी फसलों के क्षेत्र और उत्पादन का तीसरा अग्रिम अनुमान जारी किया है जिसके मुताबिक, 28.08 मिलियन हेक्टेयर क्षेत्र में कुल फल और सब्जियों का 342.33 मिलियन टन उत्पादन होने का अनुमान है, जो कि एक रिकार्ड है।

pixabay

कुल सब्जियों की पैदावार साल 2021-22

कुल सब्जियों की पैदावार पर नजर डालें तो… साल 2021-22 के दौरान कुल सब्जियों का उत्पादन 204.84 मिलियन टन होने का अनुमान है, जबकि साल 2020-21 के दौरान कुल सब्जियों की पैदावार 200.45 मिलियन टन रही थी। यानि इस साल कुल सब्जियों की उपज में 10 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी देखने को मिल सकती है जिसका असर कृषि उपज मंडियों में सब्जियों के बाजार भाव पर पड़ सकता है।

टमाटर की पैदावार साल 2021-22

वही बात टमाटर की पैदावार की करें तो… घरेलू स्तर पर इस साल टमाटर की उपज 20.33 मिलियन टन होने का अनुमान है जबकि साल 2020-21 के दौरान टमाटर की पैदावार 21.18 मिलियन टन रही थी यानि इस साल टमाटर की उपज में कमी देखने को मिल सकती है जिसका असर कृषि उपज मंडियों में टमाटर के बाजार भाव पर पड़ सकता है।

प्याज की उपज तीसरा अग्रिम अनुमान

वहीं साल 2020-21 के दौरान प्याज का उत्पादन 26.64 मिलियन टन रहा था जो साल 2021-22 के दौरान 4.63 मिलियन टन बढ़कर 31.27 मिलियन टन होने का अनुमान है।

आलू की पैदावार का आकड़ा

हालांकि की इस साल आलू की पैदावार में कमी देखने को मिल सकती कृषि मंत्रालय की ओर से जारी तीसरे अग्रिम अनुमान के मुताबिक साल 2021-22 में आलू का उत्पादन 53.39 मिलियन टन होने का अनुमान है जबकि साल 2020-21 के दौरान आलू की उपज 56.17 मिलियन टन रही थी।

pixabay

कुल फलों का उत्पादन साल 2021-22

कुल फलों के उत्पादन को देखे तो…इस साल कुल फलों की पैदावार बीते साल के मुकाबले अधिक हो सकती है। कृषि मंत्रालय की ओ से 1 नवंबर को जारी तीसरे बागबानी अनुमान के अनुसार… साल 2021-22 में कुल फलों की उपज 107.24 मिलियन टन होने का अनुमान है जबकि बीते साल इस दौरान कुल फलों की पैदावार 102.48 मिलियन टन रही थी।

Related Post

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में मिठास घोल रहा है भारतीय गुड़

Posted by - September 16, 2022 0
देश में गुड़ को 3000 सालों से आयुर्वेदिक चिकित्सा में मीठे के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। गुड़ के खनिज तत्व में कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, पोटेशियम, लौह, जिंक और…

दलहन और तिलहन का उत्पादन बढ़ाने के लिए सरकार की पहल, किसानों में बांटेगीं बीज मिनीकिट

Posted by - September 23, 2022 0
बीज अपने आप में एक संपूर्ण प्रौद्योगिकी का स्वरूप है। इसमें फसलों की उत्पादकता को लगभग 20-25 प्रतिशत तक बढ़ाने…

Leave a comment

Your email address will not be published.