भगवान श्रीकृष्ण से जुड़ी रोचक बातें, जिन्हें जानना जरूरी

13 0

श्रीकृष्ण भगवान एक संपूर्ण ज्ञान है. उन्हें समझने के लिए अत्यंत भक्ती और खुद को बासूरी की तरह खोखला करना पड़ेगा। तभी आप उनकी लीलाओ और उनके चरित्र को समझ आएगें। श्रीकृष्ण ने हम आम इंसानों की तरह ही इस धरती पर जन्म लिया है.. उन्होनें अपने बालपन में क्रीड़ा की है, माखन चुराया है, नटखट कान्हा ने राधा से प्रेम भी किया है…

इसलिए हम श्रीकृष्ण को भगवान के नाम से संबोधित करके अपने स्वरुप से अलग ना समझे.. उनकी साधना, अपार बुद्धि और ज्ञान का आंकलन इस बात से नही लगा सकते, कि वो तो भगवान है इसलिए इतने ज्ञानी है… उनके गुणों को हम नजर अंदाज नही कर सकते। श्रीकृष्ण एक महान इंसान भी है जिन्होनें अपनी चौसठ कलाओं से इस संसार में लीलाए रची… उनके गुणों को इस बात से समझा जा सकता है कि श्रीकृष्ण एक गुरू, आर्किटेक्ट, म्यूजिशियन, योद्धा, डॉक्टर, साइकॉलोजिस्ट, शासक, क्लाइमेटोलॉजिस्ट, काइनेटिक इंजीनियरिंग क्या नही है श्रीकृष्ण. वो सब कुछ है।

श्रीकृष्ण के चरित्र के बारे में बताना बेहद आसान है.

गुरु के रुप में श्रीकृष्ण। उनका जीवन संसार को सिर्फ प्रेम सिखाने तक सीमित नही रहा। श्रीकृष्ण को भगवद् गीता के लिए जगत गुरू के नाम से जाना जाता है, उनकी अपार बुद्धि और उचे सिद्धान्तों के लिए उन्हें पुरा विश्व जानता है। श्रीकृष्ण ने धर्म की स्थापना करने के लिए महाभारत के युद्ध में अर्जुन के माधव बनें। उन्होने गीता के माध्यम से इस संसार के करोड़ों लोगों को धर्म की राह दिखाई, उनसे बढ़ा गुरू कोई नही है।

श्री कृष्ण आर्किटेक्ट है।

उन्होने समुंद्र के बीचो बीच एक नगरी का निर्माण किया था.. जिसे हम द्वारिका के नाम से हम सब जानते है… हजारों साल पहले समुद्र के बीचों बीच एक शहर को बसाना नामुमकिन था लेकिन श्रीकृष्ण ने अपने बेहतरीन आर्किटेक्ट का परिचय देते हुए बेहद दुर्लभ कार्य को कर दिखाया।

म्यूजिशियन के रूप में।

श्रीकृष्ण अपनी बासुरी से मनमोहक संगीत को जैसे ही बजाते थे उनके आस पास की गायों, पक्षियों और गोपियां उनके संगीत को सुनकर मंत्रमुक्द हो जाती थी। बासुरी के ये संगीत इतना मनमोहक था की कई पेहर बीत जाते थे लेकिन गोपियां अपने सारे काम छोड़कर श्रीकृष्ण की बासुरी सुनती रहती थी।

डॉक्टर के रूप में।

उन्होने हमेशा मनुष्य को स्वस्थ रहने की बात कही है… उनका मानना था कि अच्छा सेहत आपने शरीर के कई अवगुणों को कम कर सकती है अच्छा और स्वस्थ जीवन जीना मनुष्य के लिए एक वरदान की तरह काम करता है।

श्रीकृष्ण योद्धा है।

श्रीकृष्ण ने हमेशा धर्म की बात कही है… गीता के माध्यम से उन्होने धर्म के लिए यूद्ध करो सिखाया है। धर्म सबसे बड़ा है… धर्म यानि सत्य… और सत्य के लिए लड़ना कभी गलत हो ही नही हो सकता। और उनके द्वारा बताया गया यही धर्म आज हमारा जीवन है।   

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published.