ब्रिटेन के पहले प्रधानमंत्री होंगे भारतीय मुल के ऋषि सुनक, जानें उनके जीवन से जुड़ी ये खास बातें

64 0

ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री भारतीय मूल के ऋषि सुनक होंगे। ऋषि को यूके में कंज़र्वेटिव पार्टी का नेता चुना गया है। वे एशियाई मूल के पहले ऐसे व्यक्ति हैं जो ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बने हैं। बताया जा रहा है कि ऋषि सुनक मंगलवार से प्रधानमंत्री पद संभाल सकते हैं। ऋषि के ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बनने की खबरें ऐसे समय पर आई हैं जब भारत समेत दुनियाभर में दिलावी का त्यौहार मनाया जा रहा है।

ऋषि सुनक का जन्म और परिवार

भारतीय मूल के ऋषि सुनक का जन्म 12 मई 1980 को ब्रिटेन के साउथम्पैटन में हुआ था। उनकी माता का नाम ऊषा सुनक और पिता का नाम यशवीर सुनक था। ऋषि के दादा-दादी पंजाब के रहने वाले थे। उन्होंने अपनी पढ़ाई विंचेस्टर कॉलेज से की। इसके बाद आगे की पढ़ाई उन्होंने ब्रिटेन की ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी से पूरी की।

पूर्व वित्त मंत्री रह चुके ऋषि सुनक ने ऐसे समय में यूनाइडेट किंगडम के प्रधानमंत्री का पदभार संभाला है जब ब्रिटेन गंभीर आर्थिक चुनौतियों का सामना कर रहा है। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ऋषि के ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बनने पर उनको बधाई दी।

ऋषि ब्रिटेन के सबसे अमीर सांसदों में शामिल हैं। वे पहली बार साल 2015 में यूके की संसद में पहुंचे थे। ऋषि सुनक ने प्रधानमंत्री चुने जाने के बाद ब्रिटेन को संबोधित किया इस दौरान उन्होंने कई अहम बातें कहीं

ऋषि सुनक ने संसद में कहां

उन्होंने कहा कि उनका देश इस वक्त गंभीर आर्थिक संकट का सामना कर रहा है। उन्होंने कहा कि वे आर्थिक अस्थिरता और विश्वास को इस सरकार के एजेंडे के केंद्र में रखेंगे। उन्होंने अपने भाषण के दौरान यह भी कहा कि यूके एक महान देश है और देश को एक साथ जोड़े रखना उनकी प्राथमिकता होगी।

बता दें कि कंजेर्वेटिव पार्टी के कई बड़े सांसदों ने जानसन को छोड़ते हुए भारतीय मूल के सुनक का समर्थन किया। वे भरतीय मूल के 42 वर्षीय सुनक एकमात्र उम्मीदवार हैं जिन्हें 150 से ज़्यादा सांसदों का समर्थक हासिल हुआ।

Related Post

143 साल पुराना है गुजरात का मोरबी ब्रिज, राजा दरबार में जाने के लिए करते थे ब्रिज का इस्तेमाल।

Posted by - November 1, 2022 0
मोरबी ब्रिज का इतिहास बेहद पुराना है। ब्रिटिश इंजीनियरिंग का नमुना था ये मोरबी ब्रिज। लेकिन 30 अक्टूबर को हुआ…

प्रधानमंत्री ने गुजरात में गांधीनगर और मुंबई के बीच नई वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाई।

Posted by - September 30, 2022 0
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने गांधीनगर-मुंबई वंदे भारत एक्सप्रेस को गांधीनगर स्टेशन पर हरी झंडी दिखाकर रवाना  किया और वहां से कालूपुर रेलवे स्टेशन तक उस ट्रेन से यात्रा की। जब वे गांधीनगर स्टेशन पहुंचे, तो प्रधानमंत्री के साथ गुजरात के मुख्यमंत्री श्री भूपेंद्र पटेल, गुजरात के राज्यपाल श्री आचार्य देवव्रत, केंद्रीय रेल मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव और केंद्रीय आवास एवं शहरी कार्य मंत्री श्री हरदीप सिंह पुरी उपस्थित थे। प्रधानमंत्री ने वंदे भारत एक्सप्रेस 2.0 के ट्रेन के डिब्बों का निरीक्षण किया और ऑनबोर्ड सुविधाओं का जायजा लिया।श्री मोदी ने वंदे भारत एक्सप्रेस 2.0 के लोकोमोटिव इंजन के कंट्रोल सेंटर का भी निरीक्षण किया। इसके बाद प्रधानमंत्री ने गांधीनगर और मुंबई के बीच वंदे भारत एक्सप्रेस के नए और उन्नत वर्जन को हरी झंडी दिखाई और वहां से कालूपुर रेलवे स्टेशन तक ट्रेन से यात्रा की। प्रधानमंत्री ने रेल कर्मचारियों के परिवार के सदस्यों, महिला उद्यमियों और अनुसंधानकर्ताओं और युवाओं सहित अपने सह-यात्रियों के साथ भी बातचीत की। उन्होंने वंदे भारत ट्रेनों को सफल बनाने के लिए कड़ी मेहनत करने वाले श्रमिकों, इंजीनियरों और अन्य कर्मचारियों के साथ भी बातचीत की। गांधीनगर और मुंबई के बीच वंदे भारत एक्सप्रेस 2.0 गेम चेंजर साबित होगी और भारत के दो व्यापारिक केंद्रों के बीच कनेक्टिविटी को बढ़ावा देगी। इससे गुजरात के कारोबारियों को अहमदाबाद से गांधीनगर आने जाने के दौरान हवाई यात्रा जैसी सुविधाएं प्राप्त होगी और उन्हेंहवाई जहाज के महंगे किराए का वह भी नहीं उठाना होगा। गांधीनगर से मुंबई तक वंदे भारत एक्सप्रेस 2.0 से एक तरफ की यात्रा में लगभग 6-7 घंटे का समय लगने का अनुमान है। वंदे भारत एक्सप्रेस 2.0 का…

Leave a comment

Your email address will not be published.