बुज़ुर्गों में ही नहीं, बल्कि युवाओं और बच्चों में भी विकसित हो सकता गठिया, जाने लक्षण

85 0

गठिया या आर्थराइटिस एक गंभीर बीमारी है। आम तौर पर यह बीमारी बुज़ुर्गों में देखी जाती है। लेकिन आज-कल बच्चों और युवाओं में भी इस गंभीर बीमारी के लक्षण दिखने लगे हैं। समय रहते अगर इस बीमारी का इलाज न किया जाए, तो यह गंभीर रूप ले सकती है। आम तौर पर अगर किसी को गठिया होता है, तो हड्डियों में दर्द और सूजन जैसे लक्षण दिखने लगते हैं, इससे मरीज़ को चलने-फिरने में तकलीफ होने लगती है और नॉर्मल लाइफ़ बुरी तरह प्रभावित हो जाती है।

यह ज़रूरी है कि लक्षण दिखने पर इस बीमारी का तुरंत इलाज करा दिया जाए, क्योंकि इलाज में देर होने की वजह से यह बीमारी गंभीर रूप ले सकती है। हालांकि, समय रहते इस बीमारी का ठीक से इलाज करने पर मरीज़ सामान्य जीवन जी सकता है। इसके लिए मरीज़ को अपने आहार में कुछ बदलाव करने होते हैं. साथ ही, डॉक्टर के सुझाव के मुताबिक मेडिकल ट्रीटमेंट को जारी रखना होता है।

गठिया बीमारी बच्चों को भी

आजकल यह बीमारी बच्चों में भी दिखने लगी है। एक रिसर्च के मुताबिक 1000 हज़ार बच्चों में से आज कल एक बच्चे को गठिया हो रहा है। हालांकि, बच्चों में यह बीमारी किस वजह से हो रही है इस बारे में पक्के तौर पर अब तक कुछ पता नहीं है। इसके अलावा, युवाओं को भी गठिया अपनी चपेट में लेने लग गया है। इसकी सबसे बड़ी वजह अनियमित खान-पान और खराब लाइफ़स्टाइल है। खराब जीवनशैली की वजह से युवा भी आज कल कई गंभीर बीमारियों की चपेट में आ चुके हैं। बुर्ज़ुगों को होने वाली गठिया की बीमारी अब युवाओं को भी अपना शिकार बना रही है।

वैसे तो गठिया के लिए अच्छा मेडिकल ट्रीटमेंट उपलब्ध है, लेकिन अगर सही आहार और स्वस्थ्य जीवनशैली को अपनाया जाए, तो प्राकृतिक तरीके से भी इस बीमारी में कुछ हद तक काबू पाया जा सकता है।

Related Post

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में मिठास घोल रहा है भारतीय गुड़

Posted by - September 16, 2022 0
देश में गुड़ को 3000 सालों से आयुर्वेदिक चिकित्सा में मीठे के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। गुड़ के खनिज तत्व में कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, पोटेशियम, लौह, जिंक और…

Leave a comment

Your email address will not be published.