नवंबर महीने की शुरुआत में बदल जाएगें सिलेंडर, बिजली, इंश्योरेंस और GST के नियम।

60 0

अक्टूबर महीना खत्म होते ही नवंबर की शुरुआत में सिंलेंडर, बिजली, इंश्योरेंस और GST में महत्वपुर्ण बदलाव होने वाले है, जिसका प्रभाव आपकी जेब और जिंदगी पर पड़ सकता है। नवंबर महीने की पहली तारीख को गैस सिलेंडर की कीमत बदलने वाली है साथ ही इंश्योरेस क्लेम से जुड़े नियमों में भी बदलाव देखने को मिल सकता है। वहीं ट्रेनों का टाइम टेबल में भी चेंज किया गया है।

गैस सिलेंडर की कीमतों में बदलाव

1 नवंबर से पेट्रोलियम कंपनियों की तरफ से एलपीजी गैस सिलेंडर के दाम में संशोधन किया गया है। जिसमें नए रेट को जारी किया जाएगा। हर महीनें की शुरुआत में कंपनियां 14 किलों वाले घरेलू और 19 किलों वाले कॉमर्शियल गैस सिंलेडर की कीमतों में बदलाव करती है। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में गैस की कीमतों में बढ़ोत्तरी होने से LPG के दाम बढ़ सकते है। हालांकि बीते महीने यानि एक अक्टूबर को कंपनियों ने उपभोक्ताओं को राहत देते हुए कॉमर्शियल गैंस सिलेंडर की कीमतों में 25.5 रुपये की कमी की थी।

image source: india infotainment

OTP बताने पर मिलेगा सिंलेडर

1 नवंबर से रसोई गैस की डिलीवरी लेने के लिए आपको वन टाइम पासर्वड यानि OTP One-time password डिलवर्ड किया जाएगा यानि जब आप गैस बुक कराएगें तो आपको एक ओटीपी OTP आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा। जिसके बाद आप इस ओटीपी OTP नंबर को गैस डिलीवरी बॉय के साथ शेयर करेगें, अगर आपका ओटीमी मेल खाता है, तभी आपको गैस सिलेंडर की डिलीवरी मिलेगी।

इंश्योरेंस क्लेम के नियम में हुआ बदलाव

IRDAI यानि बीमा नियामक की ओर से नवंबर महीने की पहली तारीख से एक बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा। 1 नवंबर से बीमाकर्ताओं के लिए KYC Know your customer डिटेल देना अनिवार्य होगा। इसे पहले तक नॉन लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी खरीदते समय केवाईसी विवरण देना आपकी इच्छा पर निर्भर करता था। लेकिन अब ये अनिवार्य होगा। इसका सीधा असर आपके इंश्योरेंस क्लेम पर बढ़ेगा यानि अगर आपने इंश्योरेंस क्लेम के वक्त केवाईसी डॉक्यूमेंट पेश नही किए तो, आपका क्लेम रद्द हो सकता है।

बिजली सब्सिडी के नियम में बदलाव

अगर आप देश की राजधानी दिल्ली में रहते है तो आप बिजली सब्सिडी का लाभ उठा सकते है। लेकिन जिन लोगों ने अभी तक बिजली सब्सिडी के लिए रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है उनके लिए मुश्किले बढ़ सकती है. दरअसल दिल्ली सरकार ने बिजली सब्सिडी के लिए एक नया नियम लेकर आई है। जिसके तहत जिन लोगों ने 31 अक्टूबर 2022 तक सब्सिडी वाली बिजली के लिए रजिस्टेशन नही कराया है उन्हे इसका लाभ नही मिलेगा। बता दें कि हर महीने 200 यूनिट फ्री बिजली देने के लिए दिल्ली निवासियों को रजिस्टेशन कराना पड़ता है।  

GST रिटर्न कोड

GST Goods and Services Tax रिटर्न के नियमों में बदलाव करते हुए अब 5 करोड़ रुपये से कम के टर्नओवर वाले करदाताओं को जीएसटी रिटर्न में चार अंकों का एचएसएन कोड लिखना अनिर्वाय हो जाएगा। 1 नवंबर से पहले, दो अंकों का एचएसएन कोड डाला जाता था। वहीं पांच करोड़ से ज्यादा के टर्नओवर वाले करदाताओं के लिए 1 अप्रैल 2022 से चार अंको का कोड वहीं अगस्त 2022 से 6 अकों का कोड डालना अनिवार्य था।

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published.