अंतरिक्ष में कचरा फैला रहे दुनिया के ताकतवर देश

90 0

जर्मन डेटाबेस कंपनी स्टेटिस्टा Statista ने हाल ही में उन देशों की लिस्ट जारी है, जो अंतरिक्ष में सबसे ज्यादा कचरा पैदा करने के लिए जिम्मेदार है।

अंतरिक्ष में कचरा से आप को क्या समझ में आता है। अंतरिक्ष में खराब हो चुके सैटेलाइट्स से लेकर पेंट के गुच्छें हमारे स्पेस में तैर रहे है। जिसे हम अंतरिक्ष का कचरा कहते है। अंतरिक्ष में मलबा फैलाने वाले देशों में सबसे पहले चीन का ही नाम आता है अक्सर अमेरिका और स्पेस एंजेसी नासा भी चीन पर आरोप लगा चुके है कि चीन अपने अंतरिक्ष कार्यक्रमों के दौरान स्पेस में कचरा छोड़ देता है जिसकी वजह से हमारी नीली धरती अंतरिक्ष कचरे से घिर चुकी है।

earth_space_debris_nasa_indiainfo

लेकिन हाल में जर्मन डेटाबेस कंपनी स्टेटिस्टा Statista ने नासा के उपलब्ध डेटा का इस्तेमाल करके अंतरिक्ष में सबसे ज्यादा कचरा फैलाने वाले देशों की एक सूची तैयार की है।

इस लिस्ट में सबसे पहला नाम अमेरिका है? जी नही स्टेटिस्टा के मुताबिक अंतरिक्ष में कचरा फैलाने वाला देश रूस है। स्टेटिस्टा ने नासा के ऑर्बिटल डेब्रिस क्वार्टरली न्यूज के 4 फरवरी 2022 तक के डेटा का हवाला देते हुए कहां है कि अंतरिक्ष में रुस के द्वारा छोड़े गए 7 हजार से अधिक रॉकेट बॉडी कचरे के रुप में घूम रही है।

pixabay

स्टेटिस्टा के मुताबिक दूसरे स्थान पर अमेरिका है अमेरिका ने स्पेस में करीब 5,216 मलबा छोड़ा हुआ है। अमेरिका के बाद चीन तीसरे नंबर पर है। चीन ने तकरीबर 3,845 रॉकेट के टूकड़ों को स्पेस में छोड़ा हुआ है।

ये सभी टूकड़े भविष्य में अंतरिक्ष में स्पेस मिशनों के लिए बड़ी समस्यां बन सकते है। वहीं चौथे और पांचवे स्थान पर जापान और फ्रांस है। जापान के द्वारा 520 रॉकेट के टूकड़े है। जबकि फ्रांस के 117।

pixabay

भारत ने स्पेस में कितना फैलाया कचरा

इस लिस्ट में भारत का नाम भी शामिल है छठे नंबर पर मौजूद भारत ने 114 मलबे के टूकड़ो को स्पेस में छोड़ा हुआ है। वहीं सातवें स्थान पर यूरोपीय है यूरोपीय के द्वारा 60 टुकड़े अंतरिक्ष में कचरे के रुप में तैर रहे है।

Related Post

मेदांता में भर्ती मुलायम सिंह यादव की सेहत स्थिर, फिलहाल आईसीयू में

Posted by - October 9, 2022 0
समाजवादी पार्टी के संस्थापक और तीन बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रह चुके मुलायम सिंह यादव इन दिनों खराब सेहत…

Leave a comment

Your email address will not be published.